महंगाई की मार झेल रहे आम आदमी को एक और झटका लगने वाला है। बहुत जल्द ATM से पैसा निकालना भी महंगा होगा। हाल ही में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने एटीएम ट्रांजैक्शन चार्ज को बढ़ा दिया है। फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन इंटरचेंज फीस 15 से बढ़ाकर 17 रुपये कर दिया गया है। और नाॅन फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन फीस 5 रुपये से बढ़ाकर 6 रुपये कर दिया गया है। नया रेट 1 अगस्त से लागू हो रहा है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के अनुसार इंटरचेंज फीस ऐसा बैंकों द्वारा क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के माध्यम से व्यापारियों से वसूला जाने वाला शुल्क है। 

ATM से पैसा निकालना होगा महंगा 

1 जनवरी 2022 से एटीएम से पैसा निकालना पहले के मुकाबले महंगा हो जाएगा। रिजर्व बैंक ने कहा है कि 1 जनवरी से अतिरिक्त एटीएम ट्रांजैक्शन पर 21 रुपये तक शुल्क देना पड़ेगा। RBI के नियमों के अनुसार बैंक अपने कस्टमर से महीने में 5 एटीएम ट्रांजैक्शन पर कोई शुल्क नहीं ले सकता। इसके अतिरिक्त ट्रांजैक्शन पर 20 रुपये का शुल्क देना पड़ता है। अन्य बैंकों का एटीएम यूज करने वाले लोगों को मेट्रो सिटी में तीन फ्री ट्रांजैक्शन और नाॅन मेट्रो सिटी में 5 ट्रांजैक्शन के लिए कोई

शुल्क नहीं देना पड़ता है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने जारी किए गए नोटिफिकेशन पर कहा, 'एटीएम के लिए लेनदेन के लिए इंटरचेंज शुल्क में बदलाव अगस्त 2012 में किया गया था। जबकि ग्राहकों के द्वारा दिया गया शुल्क अंतिम बार 2014 में संशोधित किया गया है। इस हिसाब से इन शुल्कों बदलाव हुए काफी समय बीत चुका है।' 

SBI बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट (BSBD) खाताधारकों के लिए नए सर्विस चार्ज को 1 जुलाई 2021 से लागू कर दिया है। बैंक ने  एटीएम से निकासी, चेकबुक, मनी ट्रांसफर और नॉन फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन पर सर्विस चार्ज को बढ़ाने का निर्णय लिया था, जिसे अब लागू भी कर दिया है।